JANTA KI PUKAR
बदायूँः 28 अक्टूबर। जनपद में शनिवार को महर्षि वाल्मीकि जयंती नगरीय व ग्रामीण क्षेत्रों में हर्षोल्लास के साथ मनाई गई। इस अवसर पर स्वच्छाग्रहियों को सम्मानित किया गया व मंदिरों में रामायण पाठ का आयोजन भी किया गया। नगर पालिका परिषद बिसौली, बिल्सी, दातागंज, नगर पंचायत वजीरगंज, अलापुर, उसावां, कुंवरगांव सहित नगरी एवं ग्रामीण क्षेत्रों में महर्षि वाल्मीकि जयंती पर कार्यक्रम आयोजित किए गए।

उल्लेखनीय है कि महर्षि वाल्मीकि वैदिक काल के महान ऋषियों में सम्मिलित हैं। महर्षि वाल्मीकि को आदि कवि के नाम से भी जाना जाता है। उनके द्वारा रचित विश्व प्रसिद्ध कालजयी कृति रामायण महाकाव्य सामाजिक, मानवीय एवं राष्ट्रीय मूल्यों की स्थापना का आदर्श है।
महर्षि वाल्मीकि द्वारा अपने ग्रंथ में वर्णित स्थल जिन्हें राम जानकी मार्ग, राम वन गमन मार्ग आदि के रूप में जाना जाता है। ऐसे लगभग 280 स्थल आज भी संपूर्ण भारत में विद्यमान है। उत्तर प्रदेश में राम जानकी मार्ग, रामवन गमन मार्ग के अंतर्गत अनेक स्थल विद्यमान है जहां पर भारतीय संस्कृति के मूल तत्व एवं मान्यताएं आज भी सुरक्षित हैं।

महान महर्षि वाल्मीकि जी की जयंती को संपूर्ण जनपद में हर्षोल्लास के साथ मनाया गया। महर्षि वाल्मीकि जयंती के अवसर पर अनेको मंदिरों में रामायण पाठ का आयोजन किया गया। दीप प्रज्वलन व दीपदान के कार्यक्रम भी आयोजित हुए तथा स्वच्छाग्रहियों (सफाई मित्रों) को सम्मानित भी किया गया।
इस अवसर पर नगर निकायों में आयोजित कार्यक्रम में अधिशासी अधिकारी व कार्मिक तथा ग्रामीण क्षेत्रों में आयोजित कार्यक्रम में खंड विकास अधिकारी व अन्य कार्मिक, आमजन व पदाधिकारी उपस्थित रहे।

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *