JANTA KI PUKAR
संवादाता आकाश सक्सेना
संवादाता आकाश सक्सेना

बदायूं। जिले के जिला अस्पताल में अचानक मौसम में में परिवर्तन होने के बाद से मरीजों की लाईन में इजाफा देखने को मिला, वहीं अब डॉक्टरों का कहना है कि बदले मौसम में खांसी बुखार के मरीजों की संख्या में इजाफा देखने को मिला है वहीं नेत्र विभाग में मोतियाबिंद के ऑपरेशन कराने वाले मरीजों की संख्या व ओपीडी में भी इजाफा होते देखने को मिला है।

अवगत कराते चले कि मौसम में बदलाव होने की वजह से खांसी और बुखार के मरीजों में इजाफा होने लगा है। जिला अस्पताल से लेकर मेडिकल कालेज में खांसी और बुखार के मरीज बढ़ती संख्या में पहुंच रहे हैं। डाक्टरों के अनुसार सुबह और शाम की सर्दी ही रहने मात्र से एवं दिन में धूप खिलने से मौसम गर्म बना हुआ है। इसलिए मौसम की वजह से लोग जल्दी बीमार हो रहे हैं।

वहीं बताया गया कि मबीते दिनों में जिला अस्पताल में पहुंचने वाले मरीजों की संख्या जिनको सर्दी खांसी बुखार है उनकी संख्या रोज की 150 से 200 प्लस है वहीं नेत्र सर्जन की बात करें तो यहां भी लगभग एक दिन में ओपीडी में दिखाने वाले मरीजों की संख्या लगभग 120 से 150 है वहीं ऑपरेशन कराने वालों की संख्या भी दिन में 15 से 20 मरीजों की है।

अस्पताल में बुधवार को भी ओपीडी में पहुंचनें वाले लोगों में खांसी, बुखार के साथ-साथ शरीर में दर्द, सिर दर्द और पेट से जुड़ी समस्याएं
जिला अस्पताल की ओपीडी में डॉक्टर को दिखाने की लगी भीड़ देखी गई। पर्चा बनवाने के बाद इन्होंने डाक्टर को दिखाकर दवा ली।

 

 

क्या बोले जिला अस्पताल के जनरल फिजिशियन……..

वहीं जिला अस्पताल में में मरीजों को देखनें वाले जनरल फिजीशियन डा.अलंकार सोलंकी ने अवगत करते हुए बताया कि मौसम परिवर्तन होने के साथ वायरल जनित बीमारियों के मरीज अधिक आ रहे हैं। उन्होंने बताया कि अब सुबह और शाम में सर्दी का रह गया है। वहीं दिन में धूप निकलने से मौसम गर्म हो रहा है।
इसलिए सेहत को लेकर गंभीर न होने वाले लोग जल्दी बीमार हो रहे हैं। वहीं उन्होंने बताया कि ऐसे मौसम में वात और पित्त का संतुलन बिगड़ना भी बीमारियों के होने की एक प्रमुख वजह है। इसलिए
बुखार के रोगी लोग मौसम के हिसाब से ही अपना खानपान करें। उन्होंने बताया कि बाहर की चीजों से परहेज करें।अधिक तला-भुना न खाएं। भरपूर मात्रा में पानी पीयें। ठंडे पेय अथवा खाद्य पदार्थों से बचे। मौसम में बदलाव होने से में सेहत के प्रति सतर्कता बेहद जरूरी है। बीमारियों का होना आम है। ऐसे वर्तमान में मौसम को देखते हुए एकदम से गर्म कपड़े पहनने न छोड़े। अभी सुबह-शाम में गर्म कपड़े पहने रहना है। ठंडी चीजों का इस्तेमाल नहीं करें।

 

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *