JANTA KI PUKAR

बदायूं की बाबा कॉलोनी में मंगलवार 19 मार्च की शाम 2 सगे भाइयों की जानवर काटने वाले चाकू से गला काटकर हत्या कर दी गई। मृतकों की उम्र 14 और 6 साल थी। वारदात से गुस्साई भीड़ ने जमकर हंगामा किया। बाइक और दुकान में तोड़फोड़ की।

मंडी समिति पुलिस ने 3 घंटे बाद रात को एक्शन लेते हुए एक आरोपी साजिद को एनकाउंटर में ढेर कर दिया, जबकि दूसरा आरोपी फरार है। दोनों आरोपी भी भाई हैं। साजिद के पास से पुलिस ने 315 बोर का एक तमंचा बरामद किया है। इसी से साजिद ने पुलिस टीम पर फायरिंग की थी। वहीं, डबल मर्डर में इस्तेमाल किया गया पशु काटने वाला एक बड़ा चाकू और चार कारतूस भी बरामद किए गए हैं।

हालांकि पहले कहा गया था कि बच्चों की हत्या बाल बनाने वाले उस्तरे से की गई है। लेकिन जब एनकाउंटर में साजिद को पुलिस ने ढेर किया, तो उसके पास से जानवर काटने वाला चाकू मिला।

आरोपियों की पड़ोस में ही सैलून की दुकान है। अभी तक वारदात की वजह सामने नहीं आई है। फिलहाल, साजिद के पिता और चाचा को पुलिस ने हिरासत में लिया है।

हालांकि, बच्चों के पिता ने FIR में बताया कि वारदात के बाद पब्लिक ने साजिद को पकड़कर पुलिस के हवाले कर दिया था। वहीं, पुलिस का कहना है कि साजिद वारदात के बाद फरार हो गया था। लोकेशन ट्रेस कर पुलिस उसके पास तक पहुंची थी।

“पैसे मांगे फिर बच्चों को मार दिया”
बच्चों की मां संगीता ने बताया, ”साजिद और जावेद बाइक से मेरे घर आए थे। जावेद बाइक लेकर बाहर खड़ा था। साजिद घर के अंदर आया। कहा कि भाभी मेरी पत्नी की डिलीवरी होनी है। वह अस्पताल में भर्ती है। मुझे 5000 रुपए दे दीजिए। मैंने साजिद को पैसे दे दिए।

इसके बाद मैंने उससे कहा चाय पी लो। मैं चाय बनाने चली गई। साजिद ने मुझसे कहा कि मुझे घबराहट हो रही है। मैं थोड़ा छत पर टहल लेता हूं। छत पर जाकर साजिद ने मेरे दोनों बच्चों की हत्या कर दी। हत्या का क्या कारण है पता नहीं है। मेरा उन लोगों से कोई विवाद नहीं है।’

मृतकों के घर के सामने ही है आरोपियों का सैलून
बाबा काॅलोनी में रहने वाले विनोद कुमार पेशे से ठेकेदार हैं। वे यहां अपनी पत्नी संगीता और बच्चों के साथ रहते हैं। संगीता घर में ही अपना ब्यूटी पार्लर चलाती हैं। वहीं, विनोद इस समय किसी काम से बाहर गए थे। इनके 3 बच्चे थे। जिन दो बच्चों की हत्या हुई वे आयुष (14) और अन्नू उर्फ हनी (6) थे।

सीधे दूसरी मंजिल पर गए और करने लगे हमला
मंगलवार देर शाम साजिद और जावेद, विनोद के घर पर आए। दोनों की दुकान सामने थी और वह परिवार को जानते थे, इसलिए किसी ने ध्यान नहीं दिया। साजिद और जावेद सीधे विनोद के घर की दूसरी मंजिल पर चले गए। संगीता नीचे अपने पार्लर में थीं।

छत पर आरोपियों ने उनके तीनों बच्चों पर जानवर काटने वाले चाकू से हमला करना शुरू कर दिया। जिसमें आयुष और हनी की मौत हो गई। वहीं तीसरा बच्चा पीयूष घायल हो गया। उसके हाथ में चोट आई है। बच्चों की चीख सुनकर घरवाले और आस-पास के लोग पहुंच गए। तब तक आरोपी भाग गए।

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *