JANTA KI PUKAR

सहारा समूह के संस्थापक सुब्रत रॉय का 75 वर्ष की उम्र में निधन हो गया. वह लंबे समय से कैंसर समेत कई शारीरिक समस्याओं से पीड़ित थे. 12 नवंबर को उनकी हालत बिगड़ने पर उन्हें मुंबई के कोकिलाबेन धीरूभाई अंबानी अस्पताल में भर्ती कराया गया था. मंगलवार को उन्होंने अंतिम सांस ली.

सुब्रत रॉय ने अपने करियर की शुरुआत गोरखपुर में नमकीन-स्नैक्स बेचने से की थी. वह अपने लैंब्रेटा स्कूटर पर जया प्रोडक्ट नाम का नमकीन बेचा करते थे. इसके बाद 1978 में उन्होंने गोरखपुर में एक छोटे से ऑफिस में सहारा समूह की नींव रखी.

सुब्रत रॉय का जन्म 10 जून 1948 को बिहार के अररिया में हुआ था. उन्होंने गोरखपुर से मैकेनिकल इंजीनियरिंग की पढ़ाई की और बाद में बिजनेस की शुरुआत भी गोरखपुर से ही की. 1991 में सहारा ग्रुप ने राष्ट्रीय सहारा नाम का अखबार निकाला. बाद में कंपनी ने सहारा टीवी नाम से अपना चैनल भी शुरू किया. बता दें कि यह कंपनी मीडिया से लेकर रियल एस्टेट तक सभी उद्योगों तक फैली हुई थी.

एक समय था जब सुब्रत रॉय जब क्रिकेट सितारों और बॉलीवुड सितारों के साथ एक भव्य समारोह की मेजबानी करते थे. कॉर्पोरेट टाइकून को नियमित रूप से विदेशी नेताओं, भारतीय राजनेताओं और अन्य प्रभावशाली हस्तियों के साथ भी देखा जाता था.

सुब्रत रॉय ने 1978 में मात्र 2000 रुपये से बिजनेस शुरू किया था. कुछ ही समय में वह नई ऊंचाई पर पहुंच गए. सहारा के प्रभारी बने. सुब्रत रॉय ने देश के सबसे शक्तिशाली वित्तीय साम्राज्यों में से एक के निर्माण में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई. हालांकि, जब 24,000 करोड़ रुपये के सहारा फंड के कुप्रबंधन का आरोप सामने आया, तो उनकी सारी प्रसिद्धि धूल में मिल गई.

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *