FATEHGANJ WEST POLICE STATION
JANTA KI PUKAR

फतेहगंज पश्चिमी थाने के इंस्पेक्टर की रिपोर्ट पर स्मैक तस्करों के तीन नए गैंग पंजीकृत कर 10 लोगों पर कार्रवाई की गई है। स्मैक तस्करों में फतेहगंज पश्चिमी नगर पंचायत की अध्यक्ष इमराना बेगम का नाम भी शामिल है।

बरेली में एसएसपी ने एक बार फिर फतेहगंज पश्चिमी के स्मैक तस्करों के पेच कसे हैं। तीन नए गिरोह पंजीकृत किए गए हैं। इनमें से एक में फतेहगंज पश्चिमी की नगर पंचायत अध्यक्ष इमराना भी शामिल हैं।

फतेहगंज पश्चिमी थाने के इंस्पेक्टर की रिपोर्ट पर तीन नए गैंग पंजीकृत कर 10 लोगों पर कार्रवाई की गई है। पुलिस के मुताबिक वार्ड नंबर 11 निवासी नदीम उर्फ मुन्ना स्मैक तस्करों का गिरोह चलाता है। उसके गिरोह में मोहम्मद नईम, जाकिर हुसैन शामिल हैं। फतेहगंज पश्चिमी के मोहल्ला सराय का शराफत भी स्मैक तस्करी करता है। उसके गिरोह में फतेहगंज पश्चिमी की नगर पंचायत अध्यक्ष इमराना और फुरकान भी शामिल हैं।

फतेहगंज के वार्ड 13 का नन्हे लंगड़ा, डॉक्टर उर्फ रियासत के साथ मिलकर तस्करी करता है। उसके गिरोह में उसका बेटा बब्बू, राशिद और आसिफ शामिल हैं। गिरोह के सभी लोगों पर पहले से भी कई मुकदमे दर्ज हैं। पुलिस इनमें से कई तस्करों की संपत्ति पहले भी चिह्नित कर जब्त कर चुकी है। अब दोबारा भी इस तरह की कार्रवाई हो सकती है।

 

जेल में बंद है कल्लू, पत्नी को बनाया अध्यक्ष

फतेहगंज पश्चिमी में एक वक्त पर शाहिद उर्फ कल्लू डॉन का एकछत्र साम्राज्य था। स्मैक डीलिंग से कल्लू ने अकूत कमाई कर गरीबों के बीच रॉबिनहुड की छवि बनाई। वह और उसकी पत्नी इमराना इसी बदौलत वार्ड सभासद रह चुके हैं।

पिछली बार भी उसने पत्नी इमराना को फतेहगंज पश्चिमी से नगर पंचायत अध्यक्ष का चुनाव लड़ाया था लेकिन वह मामूली अंतर से हार गई थी। इस बार इमराना नगर पंचायत अध्यक्ष चुन ली गई। जेल भेजे गए कल्लू डॉन पर पिट एनडीपीएस एक्ट लगाया गया है। करीब एक साल तक उसे जमानत नहीं मिल सकती।

एसएसपी घुले सुशील चंद्रभान ने बताया कि स्मैक तस्करी से कमाई करने और लोगों का जीवन बर्बाद करने वाले आरोपियों के नए गिरोह पंजीकृत किए गए हैं। गिरोह के सदस्यों पर पुलिस खास नजर रखेगी। इनकी गतिविधियों पर शिकंजा कसा जाएगा। 

इमराना बोलीं- मेरे खिलाफ कराए गए फर्जी मुकदमे 
फतेहगंज पश्चिमी नगर पंचायत की अध्यक्ष इमराना बेगम ने बताया कि मैं अब नगर पंचायत की अध्यक्ष हूं। पहले भी मेरे खिलाफ फर्जी तरीके से मुकदमे दर्ज किए गए थे, ये कार्रवाई भी उसी तरह की है। राजनीतिक प्रतिद्वंद्वियों को जब जनता ने नकार दिया तो वे ऐसी हरकत कराने लगे हैं।

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *