JANTA KI PUKAR

बरेली। इज्जतनगर पुलिस ने तस्करी करने वाले गैंग का भंडाफोड़ किया है। गैंग के सरगना समेत आठ सदस्यों को गिरफ्तार किया। उनके कब्जे से नेपाल से आया गांजा का जखीरा, महेंद्र एक्सयूवी समेत तमाम उपकरण बरामद हुए है। पुलिस ने बरामद गांजा की कीमत 12 लाख रुपये बताई है। तस्करों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है।

चावड़ के जंगलों में छिपे थे तस्कर, पुलिस ने दबोचा
इज्जतनगर इंस्पेक्टर जय शंकर सिंह ने बताया कि पुलिस को लगातार तस्करों के सक्रिय होने की सूचना मिल रही थी। इसके लिए एक टीम गठित की गई। शनिवार रात पीलीभीत रोड स्थित सिलबट्टा रेस्टोरेंट के पास चावड़ के जंगलों में पुलिस ने आठ तस्करों को गिरफ्तार किया। उनके कब्जे से 35 किलो 370 ग्राम गांजा, नौ मोबाइल, एक महेंद्र एक्सयूवी, पैकिंग रबड़, एक हजार पालीथीन, एक लाख 70 हजार रुपये, दो प्लास्टिक टार्च, दो एलईडी लाइट, छोटा और बड़ा इलेक्ट्रिक कांटा आदि सामान बरामद किया। पूछताछ में पता चला तस्कर फैजाबाद का मनीष, बाराबंकी का लालू यादव, रितेश, अयोध्या का रोहित, शाहजहांपुर का सूरजपाल, राम निवास, गोविंद और अंकित है।
नेपाल के रास्ते लाते थे गांजा, वेतन पर रखे थे लड़के
पूछताछ में पता चला सरगना दिनेश जायसवाल है। अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर वह तस्करी करते है। उत्तराखंड में 10 साल से सप्लाई कर रहे है। पहले सरगना दिनेश था, वह लखनऊ, हरदोई, शाहजहांपुर, पीलीभीत, लखीमपुर, बरेली और उत्तराखंड में तस्करी करते थे। 2019 में पांच और 2020 में 14 गिरोह के सदस्य जेल गए थे। इस बात पर गिरोह में विवाद हो गया और रितेश ने बरेली में अपना ठिकाना बनाया। नेपाल के रास्ते पांच से आठ हजार रुपये किलो गांजा मंगाते। नशीला पाउडर मिलाकर 400-500 रुपये की पुड़िया बेचते थे। जिससे यह तस्कर 10-15 गुना मुनाफा कमाते थे। इनके पास आठ हजार रुपये में लड़के प्रतिमाह काम करते है। वह रोजाना 70-100 पुड़िया गांजा दुकान पर देते है।
ये है तस्करों का आपराधिक इतिहास
मनीष के खिलाफ दो, लालू यादव के खिलाफ दो, रितेश के खिलाफ दो, रोहित के खिलाफ दो, सूरजपाल के खिलाफ दो, रामनिवास के खिलाफ एक, गोविंद के खिलाफ एक और अंकित के खिलाफ एक मुकदमा दर्ज है। गिरफ्तार करने वाली टीम में एसआई सुनील कुमार, नरेंद्र सिंह, रफीक, हेड कांस्टेबल आशीष मिश्रा, योगेश कुमार, विपुल, विशाल, अमित, विशाल, अमित, सुमित, रवि और सन्नी शामिल रहे।

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *