JANTA KI PUKAR

सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने शनिवार को योगी सरकार पर जमकर निशाना साधा। अखिलेश ने पुलिस भर्ती और RO/ARO परीक्षा को लेकर सरकार पर तंज सकते हुए कहा कि बीजेपी सरकार जानबूझकर पेपर लीक करवा रही है। जिससे रोजगार न बढ़े और वो ऐसे ही जनता को शगुफा देते रहे।

हाल के दिनों में हुए अलग-अलग परीक्षाओं में जिस तरह से पेपर लीक हुए। उससे जाहिर होता है कि इसके पीछे सरकार का हाथ है। जिस तरह की सुरक्षा में परीक्षा होनी चाहिए। वैसे नहीं हुई। प्रदेश भर को छात्रों को मजबूरन तख्ती लेकर प्रदर्शन के लिए सड़कों पर उतरना पड़ा। छात्रों के भविष्य के साथ खिलवाड़ बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।

ये बातें अखिलेश यादव ने शनिवार को समाजवादी पार्टी कार्यालय में प्रेस कांफ्रेंस के दौरान कही।

सरकार बताएं पहली भर्ती का पर्चा लीक होने पर क्या किया था

अखिलेश ने 2017 में हुई दरोगा भर्ती समेत अन्य परीक्षा पर सवाल किए। उन्होंने सरकार से पूछा कि बताएं 2017 में जब सरकार बनने पर दरोगा भर्ती, ग्राम विकास अधिकारी, फॉरेस्ट गार्ड और लेखपाल भर्ती ऐसे तमाम पेपर लीक हुए है तब क्या किया था। अखिलेश ने कहा कि भाजपा सरकार में इतने पेपर लीक होने के बाद जीरो टोरलेन्स ही जीरो हो गयी। इस सरकार में पेपर लीक का खेल चल रहा है। इस सरकार ने नौजवानों के वर्दी पहनने के सपने को उनसे छिन लिया है।

सिर्फ कागजों में हो रही ग्राउंड ब्रेकिंग सेरमनी

सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष ने कहा, कुछ दिन पहले बीजेपी ने ग्राउंड ब्रेकिंग सेरेमनी की थी। बताएं कौन से निवेश आ गए। इनकी ये ग्राउंड ब्रेकिंग सेरमनी सिर्फ कागजों में ही है। ये सरकार कैसी है जो नोकरी और रोजगार नहीं दे पा रही है। ये सरकार नौजवानों के भविष्य के साथ खिलवाड़ कर रही है। न्यूज दबाने के लिए बीजेपी के पास पैसे है खबर दबाने के लिए पैसे है लेकिन युवाओं को रोजगार देने के लिए नहीं है। ये नौजवान आने वाले समय मे बीजेपी सरकार को उखाड़ फेकेंगे।

अखिलेश ने पदाधिकारियों के साथ राज्यसभा चुनाव पर किया मंथन

27 फरवरी को राज्यसभा सदस्य का चुनाव होना है। अखिलेश यादव ने चुनाव की तैयारियों पर सपा कार्यालय में पदाधिकारियों के साथ बैठक की। इसमें शिवपाल यादव समेत सभी सपा विधायक शामिल हुए। बैठक में मुख्य रूप से क्रॉस वोटिंग और सपा उम्मीदवार को जीताने पर चर्चा हुई। अखिलेश यादव 3 दिन अलग-अलग जिलों के दौरे करने के बाद आज लखनऊ वापस लौटे हैं।

राज्यसभा के लिए वोट का पूरा गणित समझिए

राज्यसभा में न्यूनतम वोट तय करने का जो फॉर्मूला है। उसके अनुसार कुल विधायकों की संख्या में कुल खाली सीटों की संख्या से 1 जोड़कर भाग दिया जाता है। जो परिणाम आता है, उसमें 1 जोड़कर न्यूनतम कोरम तय किया जाता है। यूपी विधानसभा में कुल 403 सीटें हैं। इसमें 3 सीटें विधायकों के निधन और 1 सीट विधायक के अयोग्य घोषित होने के कारण खाली है। ऐसे में मौजूदा समय में 399 सीट है। राज्यसभा की खाली सीट 10 में एक जोड़कर 11 से भाग देने और एक जोड़ने के बाद 37.27 यानी एक सीट पर 38 वोट आ रहे हैं।

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *